ताज़ा पॉलिटिक्स मनोरंजन लाइफस्टाइल स्पेशल

प्रख्यात कवियित्री कमलेश सिंघल को विश्व पुस्तक मेले में किया गया सम्मानित

सोहना। प्रगति मैदान दिल्ली में विश्व पुस्तक मेला का आयोजन किया जा रहा है। इस अवसर पर इंद्रप्रस्थलिटरेचर फेस्टिवल द्वारा हिन्दी साहित्य में प्रवासी भारतीयों का योगदान, पुस्तक विमोचन व सम्मान समारोह का आयोजन किया गया।  इस कार्यक्रम में प्रख्यात कवियित्री व लोकगीत गायिका कमलेश सिंघल की पुस्तक लोकगीत मंजरी का लोकार्पण किया गया व  कवियित्री कमलेश सिंघल को हिन्दी साहित्य में उनके उल्लेखनीय कार्य के लिये सम्मानित किया गया। इस अवसर पर इंद्रप्रस्थ लिटरेचर फेस्टिवल नई दिल्ली के अधयक्ष व संस्थापक डा. चंद्रमणि ब्रह्मदत्त ने कहा कि कवियित्री कमलेश सिंघल ने अपनी पुस्तक लोकगीत मंजरी के माध्यम से हमारी लुप्त होती हुई लोकगीत संस्कृति को बचाने  का सराहनीय प्रयास किया है। प्रख्यात कवियित्री डॉ कृष्णा आर्या ने लोकगीत मंजरी पुस्तक की समीक्षा करते हुए कहा की विदेशों से उनके पास प्रवासी भारतीयों के उनके बच्चों  की शादी व जन्मदिन  के अवसर पर लोकगीत के लिये फोन आते हैं तो मैं कमलेश सिंघल की पुस्तक से फोटो लेकर उनको भेज देती हूँ। कमलेश  के लोकगीत संस्कृति को बचाने के इस सराहनीय प्रयास के लिए मैं उनको शुभकामनाएं देती हूँ तथा उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए कामना करती हूँ। इस अवसर पर डॉ कृष्णा आर्या ने कवियित्री कमलेश सिंघल की पुस्तक से लोकग़ीतों का  काव्यपाठ करके दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You may also like