ताज़ा राष्ट्रीय स्पेशल

नए गुरुग्राम की तरह ओल्ड गुरुग्राम को भी जोड़ा जाए फ्लाईओवर व अंडरपास से:

गुरुग्राम, ओल्ड रेलवे रोड स्थित धोबी घाट क्षेत्र के कबीर भवन चौक पर पीक ऑवर्स में जाम लगने के कारण वाहन चालकों को काफी मशक्कत करनी पड़ती है। ओल्ड गुडग़ांव का सबसे व्यस्त चौराहा जोकि जैकबपुरा, सुभाष नगर, न्यू रेलवे रोड, मियांवाली कालोनी, सैक्टर 4, 5, 7, शीतला कालोनी, रेलवे स्टेशन, राजेंद्रा पार्क, दौलताबाद, पालम विहार के अलावा करीब आधा दर्जन गांव, अर्जुन नगर, राम नगर, नई बस्ती, सुभाष नगर, नेहरु लेन, विजय पार्क, न्यू कालोनी, मदनपुरी, बलदेव नगर, ज्योति पार्क, सदर बाजार, मिनी सचिवालय, राजीव चौक, बादशाहपुर आदि दर्जनों क्षेत्रों की कनेक्टिविटी होने के कारण उक्त चौराहा ओल्ड गुडग़ांव का सबसे व्यस्त चौराहों में गिना जाता है। जहां पर प्रतिदिन हजारों की संख्या में दोपहिया व चौपहिया वाहनों का आवागमन रहता है, इसके अतिरिक्त शहर के दर्जनों स्कूलों की बसों का आना-जाना भी उक्त चौराहे से रहता है। यदि किसी वाहन चालक द्वारा जाने-अनजाने में आड़ा-तिरछा ले जाने के चक्कर में चौराहे पर तथा उक्त मार्ग पर लंबा जाम लग जाता है। कई बार तो जाम के चलते एंबूलैंस व फायर बिग्रेड की गाडिय़ों के चालक को भी अपने वाहन निकालने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ती है। आस-पास क्षेत्र के दर्जनों दुकानदार व शहर के प्रबुद्ध लोगों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहरलाल से आग्रह तथा उनका धन्यवाद करते हुए कहा कि जिस प्रकार उन्होंने शनिवार को बसई चौक व महावीर चौक अंडरपास खोलकर ओल्ड गुडग़ांव के लाखों वाहन चालकों को जाम से निजात दिलाते हुए इन अंडरपासों को बनवाकर व खोलकर जाम से निजात दिलाई है, इसी प्रकार ओल्ड गुडग़ांव के उक्त चौराहे व मार्ग पर जाम की समस्या से लोगों को छुटकारा दिलाया जाए। पुलिस कमिश्रर एवं डीसीपी ट्रैफिक के आदेशानुसार शहर की विभिन्न मुख्य सडक़ों एवं चौराहों पर यातायात को दुरुस्त बनाए रखने के लिए कई स्थानों पर होमगार्ड, यातायात पुलिसकर्मियों की नियुक्ति अवश्य की गई है, लेकिन कई बार उक्त कर्मचारी सडक़ पर दिखाई नहीं देते। यदि दिखाई दे भी जाते हैं तो उनमें से अधिकतर कर्मचारियों का ध्यान यातायात को सुचारु रुप से चलाने में कम रहता है तथा चालान काटने की ओर अधिक रहता है। हालांकि उक्त मार्ग पर मात्र 700-800 मीटर के दायरे में 3 रेडलाईट भी अवश्य पड़ती हैं, जैसे कि न्यू कालोनी मोड चौक, भूतेश्वर मंदिर एवं सोहना बस अड्डा ओल्ड जेल रोड। तीनों स्थानों पर रेडलाईट होने के बावजूद भी सुचारु रुप से यातायात नहीं चल पाता, जोकि चलना चाहिए था। यदि इसी प्रकार राजीव चौक फ्लाईओवर (लघु सचिवालय) या फिर उक्त मार्ग पर पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस से रेलवे स्टेशन तक फ्लाईओवर का निर्माण या फिर सर्वे कराकर अंडरपास बनवा दिया जाए तो उससे न केवल ओल्ड गुडग़ांव की सुंदरता बढ़ेगी, बल्कि यातायात के दबाव के चलते लगने वाले जाम से भी लोगों को छुटकारा मिलेगा। जिसके कारण वाहन चालकों के समय व पेट्रोल-डीजल की बचत भी होगी। 

1 Comment
  1. binance kods 3 months ago

    I don’t think the title of your article matches the content lol. Just kidding, mainly because I had some doubts after reading the article.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You may also like