ताज़ा पॉलिटिक्स राष्ट्रीय लाइफस्टाइल स्पेशल

अमेरिकी लेखिका व शिक्षाविद कैट पतिलों ने संस्था के कार्यक्रमो का अवलोकन किया

पुन्हाना। अपने दो दिवसीय मेवात दौरे पर अमेरिका से आई शिक्षाविद् व लेखिका कैट ने आकांक्षी जिला कार्यक्रम के अंतर्गत मेवात जिले में कार्य कर रही नीति आयोग की सहयोगी संस्थान कैवल्या एजुकेशन फाउंडेशन द्वारा चलाए जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों का अवलोकन संस्था के सीनियर प्रोग्राम मैनेजर नरेंद्र शर्मा व जम्मू कश्मीर से आये प्रोग्राम लीडर बशारत अली के नेतृत्व में किया। उनके भ्रमण का प्रमुख उद्देश्य भारत की वर्तमान शिक्षा व स्वास्थ्य व्यवस्था को बेहतर करने में विभिन्न 6 चैनल (युवा , मीडिया , स्थानीय गैर सरकारी संगठन , स्वयं सहायता समूह , पंचायती राज विभाग व धर्मगुरु) के महत्त्व को समझना था कि कैसे ये आकांक्षी जिलों में एक दूसरे के परस्पर सहयोग के साथ कार्य करते हुए सकारात्मक बदलाव ला रहे है । शुरुआत कैवल्या एजुकेशन फाउंडेशन के प्रोग्राम लीडर अब्दुल कादिर , गांधी फेलो विशाल , विकास व पूजा द्वारा आयोजित 1 दिवसीय धर्म गुरुओं की कार्यशाला से हुआ जिसमें मेवात जिले के विभिन्न गांवों से आए मौलानाओं, इमाम व धर्म गुरुओं ने हिस्सा लिया और मदरसों में दुनियावी तालीम के महत्व को समझा। लेखिका कैट पतिलो ने सभी 12  गांधी फेलो के जमीनी स्तर के कार्य अनुभवों को सुना व समझने की कोशिश की कि  ये कार्य में आने वाली चुनौतियों को कैसे कम करते हुए कार्यों को पूर्ण करते है , इसके बाद कैट ने मेवात में बालिका शिक्षा को बढ़ाने और उन्हें बेहतर भविष्य के लिए दिशा देने के उद्देश्य से कैवल्या एजुकेशन फाउंडेशन के सभी दस करुणा फेलो से प्रोग्राम लीडर शबनम के नेतृत्व में मुलाकात की जो महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में कार्य कर रही है। ये सभी करुणा फेलो मेवात जिले की ही स्थानीय निवासी है और इस कार्यक्रम में सिर्फ महिलाओं व लड़कियों को अवसर दिया जाता है। दूसरे दिन के भ्रमण में कैट ने जमीनी हकीकत को और बेहतर समझने के लिए विभिन्न बैठक की। जिला एफ.एल.एन. कोऑर्डिनेटर  कुसुम मालिक से मुलाकात करते हुए निपुण भारत मिशन में उनके प्रयासों को समझने का प्रयास किया, जिन्होंने कैवल्या एजुकेशन फाउंडेशन के निपुण भारत मिशन में सहयोग की सराहना किया। पुन्हाना खण्ड के मुढेंता गाँव में सक्षम बिटिया अभियान के साथ जुड़ी संगिनी तबस्सुम के कम्युनिटी लर्निंग सेंटर का भी दौरा किया जहां संगीनी (आइशा, मदीना, तमन्ना)मौजूद रही। संगिनी द्वारा अपना 2 साल का अनुभव व कठिनाइयां साझा की गई। कैट पतिलो जानना चाहती थी की कैसे बच्चे हमारी संगिनी के साथ जुड़े रहते हैं। संगिनी ने बताया कि उनके माता पिता के निरंतर सपोर्ट की वजह से ही वह आगे बढ़ रही हैं। उन्होंने बताया कि बच्चों को रीड अलोंग ऐप व दीक्षा ऐप के द्वारा पढ़ाती हैं। संगिनी ने बताया की पुन्हाना टीम के गांधी फेलो (देवयानी, विकास, दुर्गेश) ऑनलाइन सेशन करके उनके स्किल्स पर भी काम करते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You may also like